Monday, June 24, 2024

सलमा सुल्ताना की रहस्यमय ढंग से गायब हुई, गुत्थी को सुलझाने का प्रयास कर रही पुलिस प्रशासन

Must Read

कोरबा(4बेबाक न्यूज़ टीवी): जिले के एक स्थानीय न्यूज चैनल में बतौर न्यूज एंकर कार्यरत सलमा सुल्ताना 5 वर्ष पूर्व रहस्यमय ढंग से ऐसे गायब हुई कि आज तक उसका कोई सुराग नहीं मिला है । उसकी गुमशुदगी कोरबा पुलिस के लिए चुनौती बन कर रह गई है ।

कैसे मिला न्यूज़ एंकर सलमा का सुराग

5 साल पहले लापता हुई एक न्यूज एंकर सलमा की तलाश कोरबा पुलिस बड़ी सरगर्मी से कर रही है। लेकिन ऐसा क्या हुआ कि एक लापता युवती को ढूंढने का ख्याल पुलिस को 5 साल बाद आ रहा है। दरअसल इसके पीछे की वजह कुछ गिरफ्तारियां हैं जिनमें ऐसे इनपुट मिले हैं जिसमें ये माना जा रहा है कि युवती लापता नहीं हुई है बल्कि उसका कत्ल कर दिया गया है। लिहाजा पुलिस अब बयानों के आधार पर लापता न्यूज एंकर सलमा के कंकाल की तलाश कर रही है। इस पूरे मामले में संदेही एक जिम संचालक है जो 29 मई से यानी जब से पुलिस ने कंकाल को तलाशना शुरु किया है तब से फरार है। यानी इस संदेह को पूरा बल मिलता है कि सलमा की हत्या करके उसकी लाश को कहीं ना कहीं दफन कर दिया गया है।

पुलिस ने इस केस में जरुरी इनपुट मिलने के बाद कोरबा दर्री मार्ग के किनारे खुदाई की थी। पुलिस को सलमा के हत्या कर दिए जाने का अंदेशा है, लेकिन इस केस का मुख्य संदेही पुलिस को चकमा देकर फरार है जिसकी तलाश में पुलिस हर संभावित स्थानों पर छापामार कार्रवाई कर रही है।  

पुलिस ने जब्त की संदेही की कार

मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस पूरी सरगर्मी से संदेही जिम संचालक की तलाश कर रही है लेकिन वो कार से बक्साही तक आया और फिर गाड़ी वहीं छोड़कर भाग गया। पुलिस ने संदेही की कार को पाली क्षेत्र के बक्साही गांव से बरामद किया है। इसके बाद कुसमुंडा थाने लाकर जमा किया। यही नहीं पुलिस की माने तो आरोपी बार-बार अपना लोकेशन बदल रहा है। उसकी आखिरी लोकेशन अंबिकापुर में मिली थी। मामले को सुलझाने के लिए फरार संदेही और उसके मददगारों का गिरफ्त में आना जरुरी है जिसके लिए पुलिस लगातार उसे ट्रैस कर रही है। आईपीएस रॉबिंसन गुड़िया सीएसपी दर्री इस पूरे ऑपरेशन को लीड कर रहे है।

फिलहाल हत्या का अपराध दर्ज नहीं :

लापता न्यूज एंकर सलमा की गुमशुदगी की रिपोर्ट 2019 में कुसमुंडा थाने में दर्ज है। अब लगभग पांच साल बाद एक बार फिर इस मामले में पुलिस ने खोजबीन शुरू की है। पुलिस को यह संदेह है कि सलमा की हत्या कर उसे दर्री- कोरबा मुख्य मार्ग में सड़क किनारे दफना दिया गया था लेकिन अभी गुमशुदगी की रिपोर्ट पर ही अग्रिम कार्यवाई की जा रही है। फिलहाल पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज नहीं किया है।

कंकाल मिलना क्यों है जरूरी

संदेही के करीबियों से पूछताछ के आधार पर ही पुलिस को महत्वपूर्ण इनपुट मिले हैं। इसके जरिए ही पुलिस ने परत दर परत इस मामले तो खोलना शुरू किया है। पुलिस ने 30 मई मंगलवार को जमीन के नीचे कंकाल दफन होने के संदेह पर खुदाई का काम भी किया था, लेकिन पूरे दिन चली खुदाई के बाद पुलिस को यहां से कंकाल नहीं मिला। लिहाजा अब नए सिरे से वैज्ञानिक आधार पर जांच की जा रही है। गुमशुदा इंसान को मृत तभी घोषित किया जा सकता है, जब उसकी बॉडी बरामद हो जाए। तब तक के लिए उसे लापता ही माना जाएगा ।   वहीं कानूनन व्यक्ति के 7 साल तक लापता रहने के बाद उसे मृत माना जाता है। लिहाजा लापता सलमा का कंकाल तलाशना पुलिस के लिए एक बड़ा टास्क है। वही पुलिस का दावा है कि बहुत जल्द सलमा की गुमशुदगी के रहस्य का पर्दाफाश हो जायेगा ।

- Advertisement -
0FansLike
- Advertisement -
Latest News

🚁लोक जनशक्ति पार्टी (रा.)के कोरबा, जिलाध्यक्ष राजकुमार दुबे नामांकन रैली के लिए हाजीपुर (बिहार) हुए रवाना,🚁

लोक जनशक्ति पार्टी (रा.) छत्तीसगढ़ के सैकड़ो पदाधिकारी व कार्यकर्ता प्रदेशध्यक्ष माननीय शरत पांडेय जी के मार्गदर्शन में दो...

More Articles Like This