Monday, June 24, 2024

रीपा से होगा आजीविका गतिविधियों का संचालन, मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने किया लोकार्पण

Must Read

जिले में 10 ग्रामीण औद्योगिक पार्क से महिलाओं और युवाओं को मिलेगा रोजगार

बेरोजगारी भत्ता का वेबपोर्टल और सामाजिक आर्थिक सर्वेक्षण 2023 एप्प भी हुआ लांच

राजीव गाँधी किसान, ग्रामीण मजदूर तथा गोधन न्याय योजना के राशि का भी किया अंतरण

कोरबा 25 मार्च 2023/ मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरबा जिले के 10 महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क का उद्घाटन किया। मुंगेली जिले के सरगांव में भरोसे का सम्मेलन कार्यक्रम के माध्यम से मुख्यमंत्री श्री बघेल ने रीपा के कार्यों का लोकार्पण और राजीव गाँधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना, राजीव गाँधी ग्रामीण मजदूर न्याय योजना की राशि का हितग्राहियों के खाते में ऑनलाइन अंतरण किया। उन्होंने छत्तीसगढ़ बेरोजगारी भत्ता के वेबपोर्टल और छत्तीसगढ़ सामाजिक आर्थिक सर्वेक्षण 2023 एप्लीकेशन लांच कर इसकी भी शुरुआत की। कोरबा जिले के विकासखण्ड पोड़ी-उपरोड़ा के ग्राम कापूबहरा में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम के माध्यम से उपस्थित लोगों ने अपने जिले में रीपा और अन्य योजनाओं से मिली सौगातों को पाकर खुशियां जाहिर की।
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने भरोसे का सम्मेलन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि आज यह सम्मेलन भरोसा का सम्मेलन है और यह भरोसा आज का नहीं है बल्कि पिछले 4 सालों का है। यह भरोसा विपरीत परिस्थितियों में भी कायम है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में योजनाओं का लगातार विस्तार किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि धान का उत्पादन लगातार बढ़ रहा है, इसलिए हमने 15 से बढ़ाकर प्रति एकड़ 20 क्विंटल धान खरीदने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 9 हजार में से 5 हजार गौठान स्वावलंबी हो चुके हैं। इसलिए स्वावलंबी गौठान समिति के अध्यक्ष को साढ़े सात सौ और सदस्यों को 500 रुपये देने का निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने के लिए प्रदेश में 4 नए मेडिकल कॉलेज खोले जायेंगे। नगर पंचायत क्षेत्र के किसानों को भी लाभान्वित करने के लिए राजीव गांधी भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना की शुरुआत की गई। जैसे-जैसे गोधन न्याय योजना आगे बढ़ती जाएगी वैसे-वैसे ही हम जैविक राज्य की दिशा में आगे बढ़ते जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज सम्पन्नता केवल किसानों में नहीं बढ़ी है बल्कि व्यापार, व्यवसाय, और उद्योग भी बढ़े हैं। हमारा प्रयास सभी को आगे बढ़ाना है। उन्होंने कहा कि रीपा की शुरुआत होने से प्रदेश के युवाओं महिलाओं को रोजगार मिलेगा। रीपा के माध्यम से परंपरागत उद्योगों का लाभ प्रदेश के युवाओं को मिलना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि शहरों के तर्ज पर ग्रामीण युवाओं में स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए सड़क, बिजली, पानी एवं भूमि उपलब्ध कराई जा रही है। आज रीपा और गौठान के माध्यम से गोबर उत्पाद से लेकर गोबर पेंट बनाने का कार्य किया जा रहा है। जो बाजार से सस्ता और पर्यावरण के अनुकूल है।
सम्मेलन में विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत ने कहा कि छत्तीसगढ़ के किसानों से 20 क्विंटल धान खरीदी की घोषणा मुख्यमंत्री ने की है। भूपेश है तो भरोसा है, ये केवल किसानों का नारा नहीं है बल्कि सामूहिक रूप से छत्तीसगढ़ के पूरी जनता का नारा है। छत्तीसगढ़ को जैविक राज्य बनाना है। रासायनिक खादों के प्रयोग से कई प्रकार की बीमारियां पैदा हो रही हैं इसलिए जैविक खेती के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। पंचायत ग्रामीण विकास एवं कृषि मंत्री श्री रवींद्र चौबे अपने स्वागत उद्बोधन में कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में हमारी सरकार ने पिछले चार साल में 1.5 लाख करोड़ से ज्यादा की राशि किसानों को दी गई है। देश में सबसे ज्यादा मूल्य पर धान की खरीदी हो रही है। इस साल से प्रति एकड़ 20 क्विंटल धान की खरीदी की जाएगी।

- Advertisement -
0FansLike
- Advertisement -
Latest News

🚁लोक जनशक्ति पार्टी (रा.)के कोरबा, जिलाध्यक्ष राजकुमार दुबे नामांकन रैली के लिए हाजीपुर (बिहार) हुए रवाना,🚁

लोक जनशक्ति पार्टी (रा.) छत्तीसगढ़ के सैकड़ो पदाधिकारी व कार्यकर्ता प्रदेशध्यक्ष माननीय शरत पांडेय जी के मार्गदर्शन में दो...

More Articles Like This